YOUR PATH IS ILLUMINATED BY A ROAD-MAP OF STARS.

I AM HERE TO GUIDE YOU!

जाने क्या प्रभाव डालता है मंगल गृह विभिन्न राशियों में

December 11, 2020
Institute Of Vedic Astrology
hindi
जाने क्या प्रभाव डालता है मंगल गृह विभिन्न राशियों में

 हर ग्रह का प्रभाव हर राशि में विभिन्न तरह से पड़ता है। ग्रह ना केवल व्यक्ति विशेष होता है परंतु यह राशि विशेष भी माना जाता है। जब भी हम ज्योतिष के अनुसार यह जानने का प्रयास करते हैं, कि कौन सा ग्रह किस राशि में कैसा प्रभाव देता है तो हम विभिन्न राशियों में अलग-अलग प्रभाव व निष्कर्ष पाएंगे। यहाँ हम बताएंगे कि कैसे विभिन्न ग्रह व्यक्ति के जीवन में बड़े एवं छोटे बदलाव लाते हैं। हमें यह जानना आवश्यक है, कि किस स्थिति में कौन सा ग्रह कैसे फल देता है। कभी कोई ग्रह अच्छे फल देता है तो कभी दूसरा ग्रह नकारात्मक फल देता है।

आज हम बात करेंगे मंगल ग्रह की यह ग्रह सभी ग्रहों के बीच में अहम भूमिका भी रखता है। यदि यह किसी के पक्ष में है तो यह व्यक्ति को जमीन से आसमान पर चढ़ा देता है वहीं यदि यह नीच है तो वह व्यक्ति को आसमान से जमीन पर भी उतार देता है। यहां हम मंगल ग्रह के बारे में आपको जानकारी देंगे कि यह ग्रह विभिन्न राशियों में किस प्रकार के फल देता हैं।

मेष-

यह अगर मेष राशि में हो तो यह व्यक्ति को डॉक्टर, पुलिस या सेना अधिकारी बनाने में सहायता करता है। प्रबंधक साहसी दुर्घटना चोट का निशान सिर पर होने का संकेत भी देता है। यह बताता है कि व्यक्ति जल्द बाज है और तेजी से काम करता है। व्यक्ति उदार सेवा करने वाला वह क्रियाशील भी है। इसी के साथ यह स्वास्थ्य के बारे में भी दर्शाता है ऐसे व्यक्ति को आंख तथा पेट में पीड़ा होती है।

वृषभ-

यदि मंगल इस राशि में है तो व्यक्ति का मुख स्वार्थी उतावला संपत्ति का नुकसान उठाने वाला पारिवारिक गढ़ बड़ों से गुजरने वाला और ऐसे व्यक्तियों को स्त्री की ओर से हानि हो सकती है। ऐसे व्यक्तियों के कई प्रेम संबंध भी होते हैं।

मिथुन-

मिथुन राशि में मंगल होना काफी लाभदायक होता है। व्यक्ति तेज़ बुद्धि वाला व अन्वेषक जड़ तक पहुंचने वाला सीआईडी, टेक्टिव, पुलिस अधिकारी या एडिटर बनने का हुनर रखता है। ऐसे व्यक्तियों को यात्रा में नुकसान और हाथों वह बाहों पर घाव होने की संभावना होती है और इनके अपने भाइयों से अच्छे संबंध नहीं होते हैं और इन्हें गुप्त डर होता है। यह अच्छे कवि संगीतकार तथा सलाहकार व जासूस भी बन सकते हैं।

कर्क-

इस राशि में यह कुछ खास प्रभाव नहीं देता है। कर्क राशि के जातकों को मंगल अच्छे फल नहीं देता यह व्यक्ति को दंगा करने, बुरा बोलने, माता से जुड़ी समस्याएं, दुखी जीवन, दिमागी उलझन, मन में उतावलापन और अशांति देता है ऐसे व्यक्तियों को डॉक्टर सर्जन और गुप्त शत्रुओं का भय रहता है।

सिंह-

इस राशि के जातकों को मंगल बड़े ही अच्छे परिणाम देता है। यह व्यक्ति को डॉक्टर, सर्जन, प्रबंधक, उच्च अधिकारी व पुलिस, या सेना में जाने का मौका देता है। इसी के साथ व्यक्ति पैरामेडिकल, अधिकारी व कमांडर भी बन सकता है। ऐसे व्यक्ति उत्साही, क्रियाशील, निडर और विजय प्राप्त करने वाले होते हैं ऐसे व्यक्तियों को आंख और पेट में समस्या हो सकती है, और यह आग से जुड़ी घटनाओं से ग्रस्त भी हो सकते हैं। इसी के साथ यह ज्योतिष और गणित के विशेषज्ञ बन सकते हैं।

कन्या-

यदि मंगल इस राशि में है तो व्यक्ति सुखद प्रेम संबंध में पड़ सकता है। ऐसे व्यक्तियों का ग्रस्त जीवन भी गड़बड़ रहता है, इनके जीवन में संघर्ष ही होते हैं। इन्हें स्त्रियों के द्वारा दुर्भाग्य की प्राप्ति भी हो सकती है। ऐसे व्यक्ति बातूनी होते हैं। इसी के साथ इन्हें पेड़ से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं।

तुला-

तुला राशि वाले जातक को नुकसान उठाना पड़ सकता है। इन्हें इनके जीवन में पारिवारिक गढ़ बड़ों का सामना करना पड़ता है, खास करके मुकदमे से जुड़ी समस्याओं को लेकर यह अपने जीवन में बड़ी-बड़ी उमंगे रख सकते हैं परंतु यह अपने स्वभाव से झगड़ालू भी होते हैं।

वृश्चिक-

ऐसे जातक फसादी, घमंडी, निडर, अभिमानी, त्रिविक्रमण करने वाले और जीवन में भारी संघर्ष उठाने वाले होते हैं। ऐसे व्यक्तियों के साथ आदित्य दुर्घटनाएं घटती हैं। व्यक्ति जल्दबाजी करते हैं।

धनु -

ऐसे व्यक्ति लोगों में लोकप्रिय माने जाते हैं, यह नेता उच्चाधिकारी उच्च पद महत्वाकांक्षी सेनापति सेना अधिकारी बनने के योग रखते हैं।

मकर-

ऐसे व्यक्तियों के जीवन में दौड़ भाग लगी रहती है वह इन्हें घाव चोट होने का भय होता है, इसी के साथ इन्हें पानी में डूबने का भी भय होता है। यदि मंगल उच्च राशि में भी होता है तो ऐसे व्यक्ति निडर, प्रबंधक, डॉक्टर व राजनीतिक क्षेत्रों में काम करने का अवसर प्रदान करता है।

कुंभ-

ऐसे जातक लड़ा- झगड़े में उलझे होते हैं, और यह किसी न किसी बीमारी के कारण दुखी रहते हैं। इनके साथ दुर्घटनाओं की आशंकाएं भी बनी रहती है। ऐसे व्यक्तियों को अपने मित्रों से भी धोखा मिलता है, वह इनका जीवन संघर्ष में होता है। क्योंकि कहीं ना कहीं ऐसे व्यक्तियों की बुद्धि कम होती है।

मीन-

ऐसे व्यक्तियों को जीवन में कुछ अच्छा हासिल करने के लिए संघर्ष व दौड़ भाग करनी पड़ सकती है। यह धनी होते हैं, इसी के साथ उत्साही होते हैं और इनका गृहस्थ जीवन दुख से भरा होता है। संतान होने में इन्हें विघ्न आते हैं। ऐसे व्यक्तियों को उच्च पद वालों की सहायता प्राप्त होती है परंतु इनका जीवन अस्थाई होता है।

यदि आप दूसरे ग्रहों उनके प्रभावों के बारे में और बेहतर तरीके से जानना चाहते हैं तो आप भी इंस्टिट्यूट ऑफ वैदिक एस्ट्रोलॉजी के जरिए वैदिक ज्योतिष में पत्राचार पाठ्यक्रम के जरिए ज्ञान हासिल कर सकते हैं।

RECENT POST

cATEGORIES